Ad Code

Indian Geography - Complete Notes Of Indian Geography Part 01 - Indian Geography UPSC Notes Topic Wise

Indian Geography - Complete Notes Of Indian Geography Part 01  - Indian Geography UPSC Notes Topic Wise :

भारतीय भूगोल (Indian Geography) पढ़ने वाले छात्रों का एक ही शब्द कहने को मिलता है, वो ये है कि "बहुत अच्छा लगा"। अगर आप भूगोल को अच्छे से नहीं पढ़ते है तो आपको ये विषय बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगेगा साथ मे बोरिंग भी लगेगा। बहुत सारे ऐसे छात्र है जो भारतीय भूगोल (Indian Geography) को पढ़ने मे काफी रुचि रखते हैं, क्यूंकि वो इस विषय को परीक्षा की दृष्टि से नहीं ब्लकि अपने ज्ञान को बढ़ाने के लिए पढ़ते है। भारतीय भूगोल (Indian Geography) को शुरू करने से पहले हम भूगोल के बारे में कुछ आधरित जानकारी को समझेंगे। भूगोल को पढ़ना क्यूँ जरूरी है? ये सब की जानकारी आपको इस पोस्ट में मिलेगी। 

भारतीय भूगोल नोट्स 

Indian Geography - Complete Notes Of Indian Geography :

दोस्तो आज के पोस्ट में हम आपके सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण भारतीय भूगोल (Indian Geography) का नोट्स देने वाले है। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि अगर आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ लेते है तो दोबारा भारतीय भूगोल (Indian Geography) पढ़ने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इस पोस्ट में हम आपके लिए संपूर्ण भारतीय भूगोल (Indian Geography) का नोट्स देने वाले है जो सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण है।

Whatsapp Group✔️ Join Now For Pdf✔️ Group
Discussed Group Join For Solutions
 

भारतीय भूगोल (Indian Geography) को सबसे पहले हम इसकी भौतिक विशेषता के बारे में पढ़ेंगे, फिर उसके बाद भौतिक विभाजन के बारे में कुछ जानकारियां लेंगे, उसके बाद महत्वपूर्ण टॉपिक की तरफ हम अपनी पढ़ाई को आगे बढ़ायेंगे। इस पोस्ट में आपको भारतीय भूगोल का भाग 01 मिलेगा जिसमें हम प्रमुख दर्रे तक देखेंगे। उसके बाद भाग 02 में हम भारत के भौतिक विभाजन से शुरू करेंगे। 

            भारत की भौतिक विशेषता            

उत्तर से दक्षिण की लंबाई - 3214 Km

पूर्व से पश्चिम की लंबाई  - 2933 Km


अक्षांश रेखा  - 8°4' उत्तर से 37°6' उत्तर 

देशांतर रेखा  - 68°7' पूर्व से 97°25' पूर्व 

● भारत का क्षेत्रफल  - 32,87,263 Km

● भारत का क्षेत्रफल संपूर्ण विश्व के क्षेत्रफल का 2.42% है। 

● भारत की जनसंख्या जनगणना 2011 अनुसार पूरे विश्व के जनसंख्या का 17.5% है।

                भारत के दूरस्थ बिंदु                  

● मुख्य भूमि का द० बिन्दू - कन्या कुमारी (तमिलनाडु)

सबसे पूर्वी बिन्दू - वालांगू (किबिधू) अरुणाचल प्रदेश 

सबसे पश्चिम बिन्दू - सरक्रिक (गुजरात)

          क्षेत्रफल के अनुसार बड़े देश-             

  1. रूस 
  2. कनाडा
  3. चीन 
  4. USA
  5. ब्राजील 
  6. ऑस्ट्रेलिया 
  7. भारत 

जनसंख्या की दृष्टि से भारत विश्व का दूसरा सबसे बड़ा देश है। (जनगणना 2011 के अनुसार)

1. चीन 

2. भारत 

3. अमेरिका 

Note : सन् 2021 के बाद भारत जनसँख्या की दृष्टि से विश्व का सबसे बड़ा देश बन गया है। 

1. भारत 

2. चीन 

3. अमेरिका 

           भारत की भौगोलिक सीमा           

भारत की स्थलीय सीमा - 15200 (15106.7)

● मुख्य भूमि की तटीय सीमा - 6100 km

कुल भूमि की तटीय सीमा - 7516.6 km

● भारत की सबसे बड़ी जलीय सीमा वाला राज्य गुजरात है।

भारत के स्थलीय सीमा से सटे देश - बंग्लादेश, चीन, पाकिस्तान, नेपाल म्यांमार, भूटान, अफगानिस्तान।

● भारत की सबसे बड़ी अंतर्राष्ट्रीय स्थलीय सीमा - बंग्लादेश (4096 किमी.) 

ध्यान दे  - अफगानिस्तान कि सीमा वर्तमान में भारत से नहीं लगती।

           भारत के तटीय राज्य (9 राज्य)             

भारत के नौ राज्य तथा चार केन्द्रशासित प्रदेश की सीमा समुन्द्र से लगती है।
1. गुजरात
2. महाराष्ट्र
3. गोवा
4. कर्नाटक
5. केरल
6. तमिलनाडु
7. आंध्रप्रदेश
8. उड़ीसा
9. पश्चिम बंगाल
केन्द्रशासित प्रदेश - अण्डमान निकोबार, पाण्डीचेरी लक्ष्यद्वीप, दमनद्वीप ।

कर्क रेखा 

कर्क रेखा (23½° उत्तर) पर स्थित 8 राज्य -

कर्क रेखा भारत के आठ राज्यों से होकर गुजरता है जिसे आप ऊपर दिए गए नक्शे (map) में देख सकते हैं  -
1. गुजरात 
2. राजस्थान 
3. मध्यप्रदेश 
4. छत्तीसगढ़ 
5. झारखंड 
6. पच्छिम बंगाल 
7. त्रिपुरा 
8. मिजोरम 

   समय रेखा (82½°) पूर्व पर स्थित पाँच राज्य   

● 82½° पूर्वी देशांतर रेखा भारत के 5 राज्यों से होकर गुजरती है  -
1. उत्तरप्रदेश 
3. छत्तीसगढ़ 
2. मध्यप्रदेश 
4. उड़ीसा 
5. आंध्रप्रदेश 

● भारत में इलाहाबाद के नैनी के समीप से गुजरने वाली 82½° पूर्वी देशांतर के स्थानीय समय को भारतीय मानक समय माना जाता है।

● भारत की मानक समय रेखा GMT से 5 घंटा 30 मिनट आगे है।

● मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ राज्य में ही कर्क रेखा एवं समय रेखा दोनों गुजरता है।

● कर्क रेखा एवं समय रेखा एक दूसरे को छत्तीसगढ़ के बैंकठपुर में काटती है।

        भारत के राज्यों में स्थित प्रमुख पर्वत          

भारत के राज्यों में स्थित प्रमुख पर्वत को हम दो भागों में बाँटकर पढ़ेंगे -

1. उत्तर के पर्वतीय क्षेत्र 

2. दक्षिण के पठार 

हमनें maps (नक्शे) में कुछ पर्वतों का नाम दिया हुआ है। जो पर्वत हम नहीं लिख पाए है उसे नीचे दिए गए पर्वतों के नामों में दिया हुआ है, उसे आप पढ़ सकते है  -

काराकोरम पर्वत (K2 8611m) कश्मीर में स्थित है। 

लद्दाख पर्वत श्रेणी लद्दाख (कश्मीर) में स्थित है।

जास्कर जम्मू कश्मीर तथा लद्दाख के क्षेत्र में स्थित है। 

पीरपंजाल का दूसरा नाम लघु हिमालय है। यह जम्मू कश्मीर में स्थित है। 

नंदा देवी और सतोपंथ भारत के उत्तराखंड राज्य में स्थित है। 

डाफला, मिसमी, तथा पटकोइ बूम भारत के अरुणाचल प्रदेश राज्य में स्थित है। 

नागा पर्वत भारत के नागालैंड राज्य में स्थित है। 

गारो, खाशी व जयंतिया भारत के मेघालय राज्य में स्थित है।मेघालय को पूर्व का स्कॉटलैंड कहा जाता है। 

राजमहल की पहाड़ी भारत के तीन राज्यों की सीमा पर स्थित है। (बिहार, झारखंड, पच्छिम बंगाल)

छोटानागपुर का पठार तथा रामगढ़ भारत के झारखंड राज्य में स्थित है।

अरावली (गुरु शिखर-1722 मी.) पर्वत भारत के राजस्थान में स्थित है। 

गिर पर्वत गुजरात में स्थित है। 

विन्ध्यालच तथा सतपुड़ा पर्वत श्रेणी भारत के मध्यप्रदेश राज्य में स्थित है, इन दोनों पर्वतों के बीच से नर्मदा नदी होकर गुजरती है। 

मैकाल (अमरकटक - 1124 मी.) जिससे तापी तथा नर्मदा नदी निकलती है। यह मध्यप्रदेश तथा छत्तीसगढ़ के सीमा पर स्थित है। 

अजंता पर्वत श्रेणी महाराष्ट्र में स्थित है। 

कार्डमम (इलायची) सबसे निचली पर्वत है जो तमिलनाडु राज्य में स्थित है। 

अन्नामलाई (अनाई मुडी 2695 मी.) यह केरल राज्य में स्थित है, इसकी सबसे ऊंची चोटी अनाई मुडी  है। 

सारामति नागालैंड राज्य में स्थित है। 

ब्लू पीक मिजोरम राज्य में स्थित है। 

महाबलेश्वर महाराष्ट्र में स्थित है। 

नंगा पर्वत POK में स्थित है। 

नीलगिरी (डोडा- बेटा 2636 मी.) तमिलनाडु, कर्नाटक तथा केरल राज्य में स्थित है। इसे पश्चिम घाट के नाम से जाना जाता है। 

पश्चिमी घाट इसे सह्याद्रि पर्वत भी कहा जाता है। इसकी सबसे ऊंची चोटी डोडा- बेटा तथा अनाई मुडी है। 

पूर्वी घाट उड़ीसा से लेकर तमिलनाडु तक फैला हुआ है। इसकी सबसे ऊंची चोटी महेन्द्रगिरि (1501 मी.) है। 

● मिजो व लुशाई नामक पहाड़ी भारत के मिजोरम तथा त्रिपुरा राज्य में स्थित है। 

                                दर्रा                                

दर्रा वो पतला रास्ता होता है, जिसमें दो पहाड़ों के बीच आवागमन की जा सके। अब हम आपको भारत के संपूर्ण दर्रों के बारे मे बताएंगे, आप कोशिश करियेगा याद करने से बेहतर है map (नक्शा) को समझना। 
● बुरजिल - श्रीनगर + गिलगिट, मध्य एशिया।
जोजिला - श्रीनगर + कारगीर, लेह, कश्मीर घाटी।
काराकोरम - भारत + चीन 
बनिहाल - जम्मू + पंजाब, पीर पंजाल श्रेणी में जवाहर सुरंग।
खारदुंगला, चांगला - लद्दाख
● बारालाचाला - लेह + मनाली।
शिपकीला - शिमला + तिब्बत।
रोहतांग - शिमला + पंजाब।
मणिरंग - हिमाचल प्रदेश।
नीति - उत्तराखण्ड तिब्बत (कैलाश यात्रा)।
धर्मा - उत्तराखण्ड + तिब्बत।
लिपुलेख - उत्तराखण्ड + तिब्बत + नेपाल।
मुलिंग दर्रा - उत्तराखण्ड।
किंग्ती- विंग्ती दर्रा - उत्तराखण्ड।
● माना - कुमायु + गढ़वाल।

नाथुला - सिक्किम तिब्बत, यह 1962 से बन्द था। 2015 में खोला गया। यह चुम्बी घाटी को जोड़ता है।
जैलेप्ला - सिक्किम + तिब्बत।
बोमडीला - तबांग घाटी + तिब्बत।
दिफू दर्रा - अरूणाचल प्रदेश + म्यांमार।
यांग्याप दर्रा- अरूणाचल प्रदेश + म्यांमार।
● तुजू दर्रा - मणिपुर + म्यांमार।
सेला - अरुणाचल प्रदेश।
● बुर्हानपुर - भुसावल + नेपानगर
थालघाट - मुम्बई + नासिक
भोरघाट - मुम्बई + पुणे, चेन्नई
पालघाट - कोच्चि + कोयम्बटूर
सेनकोट - तिरूवन्तपुरम् + मदुरै


इन्हें भी पढ़े -

3. Indian Geography - Complete Notes Of Indian Geography Part 03 - Indian Geography UPSC Notes Topic Wise

अंतिम शब्द  :
आज का पोस्ट आपको जरूर पसंद आया होगा। मुझे उम्मीद है कि Complete Notes Of Indian Geography Part 1 आपके लिए useful हुआ होगा, अगर आपको हमसे कुछ कहना हो  तो नीचे कमेंट्स बॉक्स में कह सकते है। 

एक टिप्पणी भेजें

2 टिप्पणियाँ

Close Menu